हाथ चूमकर ‘इलाज’ करने वाले बाबा की कोरोना से मौत, 29 भक्त भी पॉजिटिव

झाड़फूंक, टोना-टोटका और अंधविश्वास के सहारे धर्म-कर्म से भोले-भाले लोगों की बीमारी और समस्याएं दूर करने वाले बाबा आपको बीमारी भी परोस सकते हैं. एमपी के रतलाम में ऐसा हुआ भी है जब एक संक्रमित बाबा ने अपने भक्तों को भी कोरोना बांट दिया. (प्रतीकात्मक फोटो)

ऐसे ही एक असलम नाम के बाबा की 4 जून को कोरोना के कारण मौत हुई. प्रशासन ने बाबा के कॉन्टेक्ट तलाश कर लोगों को क्वारनटीन किया. जब इन सबके सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे तो शहर में कोरोना विस्फोट हो गया. इस बाबा ने अपने मरने से पहले 29 लोगों को कोरोना बीमारी बांट दी. (प्रतीकात्मक फोटो)

रतलाम के नयापुरा का यह बाबा झाड़फूंक करता था और ताबीज देता था. लोग बड़ी संख्या में इसके पास जाते थे और यह कभी-कभी लोगों के हाथ भी चूमता था.

प्रशासन अभी और इस बाबा के संपर्क में आये लोगों को तलाश रहा है. इस बाबा के कारण जो कोरोना पॉजिटिव मिले हैं वह शहर के बाबा के निवास स्थान नयापुरा क्षेत्र के ही है. नयापुरा शहर का कोरोना हॉटस्पॉट बन गया है. (प्रतीकात्मक फोटो)

एक बाबा के कारण शहर में कोरोना फैला तो प्रशासन ने शहर में ऐसे बाबाओं को उठाना शुरू किया. करीब 29 बाबाओं को उठाकर विभिन्न क्वारनटीन सेंटर में भेजा गया है. (प्रतीकात्मक फोटो)

क्वारनटीन सेंटर में इन बाबाओं की शिकायत है कि उन्हें यहां कोई सुविधाएं नहीं दी जा रही हैं. इनकी कोई जांच भी नहीं की गई है. इन बाबाओं का कहना है अभी वो कोरोना महामारी के कारण सब काम बंद कर चुके थे. हमें पकड़कर यहां लाकर बंद कर दिया गया. (प्रतीकात्मक फोटो)

रतलाम सीएमएचओ डॉक्टर प्रभकार ननावारे ने बताया कि नयापुरा के एक बाबा की कोरोना संक्रमण से मौत हुई थी. उस बाबा के संपर्क वाले लोगों का पता लगाकर क्वारनटीन किया गया है. जब सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए तो नयापुरा के इस बाबा के संपर्क वाले 29 लोगों को कोरोना पॉजिटिव पाया गया. ऐसे ओर भी बाबाओं को पकड़कर क्वारनटीन किया गया. सभी को सभी सुविधाएं दी जा रही है और उनके सैंपल लिए गए है. जांच रिपोर्ट का इंतजार है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here